October 3, 2022
Raju Srivastava का जीवन एक व्यक्ति से लेकर कलाकार तक का सफर काफी संघर्षों और नए आविष्कारों से भरा हुआ था। Bharat bulletin news| latest news|

Raju Srivastava Passed Away: भारतीय मनोरंजन जगत ने राजू श्रीवास्तव के रूप में अपना सबसे चमकीला सितारा खो दिया। आज यानी बुधवार की सुबह लगभग 10:30 बजे दिल्ली के एम्स अस्पताल में उनका निधन हो गया। भारत में कॉमेडी की दुनिया का बेताज बादशाह कहे जाने वाले राजू श्रीवास्तव का जीवन एक व्यक्ति से लेकर कलाकार तक का सफर काफी संघर्षों और नए आविष्कारों से भरा हुआ था।

ये था Raju Srivastava के बचपन का नाम

राजू श्रीवास्तव का जन्म उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक सरकारी कर्मचारी और कवि, रमेश चंद्र श्रीवास्तव और गृहिणी सरस्वती श्रीवास्तव के यहां हुआ था। जन्म के समय राजू श्रीवास्तव का नाम सत्य प्रकाश श्रीवास्तव था बाद में उन्होंने अपना नाम राजू रख लिया। राजू ने बचपन से ही कॉमिक कलाकार बनने का सपना देखा था और उन्होंने 1980 के दशक में अपने सपने को साकार करने के लिए मुंबई चले गए।

यह भी पढ़ें: Raju Srivastav Death: पीएम मोदी और अक्षय कुमार समेत इन हस्तियों ने दी श्रद्धांजलि

Raju Srivastava संघर्षों भरा रहा शुरुआती जीवन

शुरूआती दिनों में उन्हें काम के लिए काफी संघर्षों का सामना करना पड़ा क्योंकि उस समय में कॉमेडी (हास्य कला) एक नई कला थी। ऐसे में अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए, राजू ने एक ऑटो-रिक्शा चलाना शुरू किया, लेकिन स्टैंड-अप शो में प्रदर्शन करने के अपने जुनून को जीवित रखा। उस समय अपना गुजारा करने के लिए उनके पास मात्र 50 रुपए थे।

पहला ब्रेक फिल्म तेजाब से मिला

कुछ साल बाद, उन्हें 1988 में बॉलीवुड फिल्म ‘तेजाब’ में एक छोटा सा किरदार मिला। इसके बाद उन्होंने सलमान खान की डेब्यू फिल्म ‘मैंने प्यार किया’ में एक और छोटी-सी भूमिका निभाई। हालांकि श्रीवास्तव ने हार नहीं मानी और ऐसे ही छोटे-मोटे रोल को करना जारी रखा, जिसमें 1994 में दूरदर्शन के ‘टी टाइम मनोरंजन’ होने तक शाहरुख खान की ‘बाजीगर’ में दिखाई देना शामिल था। बाद में, उन्हें ‘शक्तिमान’ में एक भूमिका मिली, जो यकीनन भारत का पहला साइंस फिक्शन शो था।

इस शो से मिली पहचान

इसके बाद उन्होंने ‘द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज’ से लोगों का ध्यान अपनी तरफ खींचा। जहां वे सेकेंड रनर-अप रहे, लेकिन उन्होंने स्पिन-ऑफ शो ‘द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज’ में ‘कॉमेडी के राजा’ का खिताब जीता। फिर वह रियलिटी टेलीविजन शो ‘बिग बॉस’, ‘नच बलिए 6’ और ‘कॉमेडी नाइट्स विद कपिल’ के तीसरे सीजन में भी नजर आए। बाद में 2014 में, उन्होंने राजनीति में कदम रखा और लोकसभा चुनाव के लिए कानपुर से समाजवादी पार्टी के टिकट पर मैदान में उतरे।

यह भी पढ़ें: Operation Octopus: बूढ़ा पहाड़ हुआ नक्सल मुक्त, अब तक इतने नक्सली हुए ढेर

बीजेपी के ब्रांड एंबेसडर के रूप में भी किया काम

हालांकि, उन्होंने यह कहते हुए टिकट लौटा दिया कि उन्हें पार्टी की स्थानीय इकाइयों से पर्याप्त समर्थन नहीं मिल रहा है। उसके बाद, वह 19 मार्च, 2014 को भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। बाद में, उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान के ब्रांड एंबेसडर के रूप में कार्य किया और उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद के अध्यक्ष बने। उस दौरान उन्होंने आगामी नोएडा फिल्म सिटी परियोजना की नींव रखी।

अपनी शर्तों पर जीते थे Raju Srivastava

सारी मुश्किलों से जूझना और अपनी शर्तो पर जीना राजू श्रीवास्तव की खासियत थी। बावजूद इसके 40 दिनों तक जिंदगी और मौत के बीच जारी लड़ाई को आखिरकार आज 21 सितंबर 2022 को हार गया। लेकिन, उनके काम उनके व्यक्तित्व ने उन्हें अमर बना दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.